fbpx

साधारण सा सर्दी-जुकाम 😨 हो या कैंसर जैसा गंभीर रोग सभी के उपचार में सिर्फ एक लौंग ❄ रोज

 ★ साधारण सा सर्दी-जुकाम 😨 हो या कैंसर जैसा गंभीर रोग सभी के उपचार में सिर्फ एक लौंग ❄ रोज ★
📱 Share On Whatsapp : Click here 📱

सदियों से मसाले के रूप में इस्‍तेमाल होने वाला लौंग औषधीय गुणों का खजाना है। इसमें प्रोटीन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट्स, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और हाइड्रोक्लोरिक एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। इसमें विटामिन ‘ए’ और ‘सी’, मैगनीशियम और फाइबर भी पाया जाता है। यह सभी शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। साधारण सा सर्दी-जुकाम हो या कैंसर जैसा गंभीर रोग सभी के उपचार में लौंग का इस्तेमाल किया जाता है।


➡ दांत 😬 दर्द से राहत :
लौंग को प्राकृतिक दर्द निवारक कहा जाता है। इसमें एंटीबैक्‍टीरियल गुण भी पाए जाते हैं। लौंग का तेल दांत दर्द से आराम दिलाने में बहुत ही लाभदायक होता है। लौंग का तेल लगाने से दर्द छूमंतर हो जाता है। दर्द के समय अगर एक लौंग मुंह में रख लें और उसके मुलायम होने के बाद उसे हल्के-हल्के चबाएं तो दांत दर्द ठीक हो जाता है।
www.allayurvedic.org

➡ अर्थराइटिस ✋ में आराम :
लौंग में फ्लेवोनॉयड्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए यह जोड़ों में होने वाले दर्द व सूजन से आराम दिलाने में बहुत फायदेमंद होता है। कई अरोमा एक्सपर्ट अर्थराइटिस के उपचार के लिए लौंग के तेल की मालिश की सलाह देते हैं।

➡ श्वास 💃 संबंधी रोगों का इलाज :

लौंग की पांच कलियों को पानी में उबालकर काढ़ा बना लें। इसमें शहद मिलाकर दिन में तीन बार पीने से अस्‍थमा रोगी को काफी लाभ होता है। साथ ही लौंग के तेल का अरोमा भी श्‍वास रोगों से राहत दिलाने में मददगार होता है। इसे सूंघने मात्र से ही जुकाम, कफ, दमा, ब्रोंकाइटिस, साइनसाइटिस आदि समस्याओं में तुरंत राहत मिलती है।


➡ सिर दर्द से मिलेगी राहत :
सिर दर्द होने पर लौंग को पीसकर माथे पर लगायें। इससे आपको फौरन फायदा होगा। लौंग का तेल भी दर्द में फायदेमंद होता है। नारियल के तेल में लौंग तेल की कुछ बूंदे मिलाकर सिर पर मालिश करने से दर्द दूर होता है।
www.allayurvedic.org

➡ बेहतरीन एंटीसेप्टिक है त्वचा विकारो के लिए :
लौंग में मौजूद एंटीसेप्टिक गुणों के कारण इसका इस्‍तेमाल फंगल संक्रमण, खुजली, कटने, जलने, घाव हो जाने या त्वचा संबंधी अन्य समस्याओं के उपचार में काफी उपयोगी होता है। लेकिन लौंग का तेल इस्‍तेमाल करते हुए हमेशा इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि तेल को किसी तेल में मिलाकर ही त्वचा पर लगाना चाहिए।


➡ पाचन शक्ति मजबूत बनाए :
लौंग के सेवन से पाचन संबंधी समस्‍याओं से निजात मिलती है। इससे पाचन शक्ति बढ़ती है। साथ ही लौंग खाने से पेट के कीड़े समाप्त हो जाते हैं। भोजन में प्रतिदिन दो लौंग का सेवन करने से हाजमा और पाचन तंत्र दुरुस्त रहते हैं।


➡ तनाव  😭😴  में मिलेगा फायदा :
अगर आप अपने तनाव को कम करना चाहते हो तो लौंग का सेवन रोजाना करें। अपने विशिष्‍ट गुणों के कारण लौंग न केवल आपके तनाव को कम करती है बल्कि थकान को कम करने का काम भी करती है।
www.allayurvedic.org

➡ जी मिचलाये तो अपनाएं :
उलटी होने पर भुनी लौंग के पाउडर को शहद में मिला कर सेवन करने से तत्काल लाभ होता है। यदि जी मिचला रहा हो तो 2 लौंग पीसकर एक चम्मच शक्कर में थोड़ा-सा पानी मिलाकर उबाल लें व ठंडा कर लें। इसे पीने से जी मिचलाना बंद हो जाता है। साथ ही यह गर्भ ठहरने के दौरान होनी वाली जी मिचलाने की समस्‍या में उपयोगी होता है।


➡ फ्री रैडिकल्स या झुर्रियाँ
लौंग में पाया जाने वाला एंथोकाइनिन एंटीऑक्‍सीडेंट फ्री रैडिकल्‍स से लड़ने में बहुत ही प्रभावशाली होता है। फ्री रैडिकल्‍स के कारण त्‍वचा पर जल्‍द ही झुर्रियां आने लगती है और आप बूढ़े लगने लगते हैं।


➡ रक्त 💉 शोधक है लौंग :
डायबिटीज से पी‍डि़त लोगों के लिए लौंग लाभकारी होता है। यह ना केवल रक्त को शुद्ध करता है, बल्कि ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में भी मददगार होता है। लौंग का सेवन प्रतिरोधी क्षमता को भी बढ़ाता है। 
www.allayurvedic.org

Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!