fbpx

जिमीकंद गठिया, अस्थमा, कब्ज, धमनियों में ब्लॉकेज और कैंसर कोशिकाओं का रामबाण उपाय

  • जिमीकंद के फायदे के बारे में कम ही लोग जानते हैं। यह एक सब्जी ही नहीं बल्कि एक जड़ी-बूटी भी है। इसे सूरन भी कहते हैं। फायबर-विटामिन-सी, बी6, बी1, फोलिक एसिड के अलावा पोटेशियम, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, और फॉस्फोरस युक्त जिमीकंद कई तरह से सेहत के लिए फायदेमंद है। जानते हैं इसके फायदे-गठिया में फायदेमंद इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन-सी और बीटा-कैरोटिन कैंसर का कारण बनने वाले फ्री-रेडिकल्स से लड़ते हैं। साथ ही यह गठिया और फेफड़ों से जुड़े अस्थमा रोग में भी फायदेमंद है। www.allayurvedic.org
  • इसे नियमित खाने से कब्ज और कोलेस्ट्रॉल के कारण होने वाली दिक्कतों से राहत मिलती है। इसके अलावा यह याददाश्त बढ़ाता है और अल्जाइमर रोग (भूलने की समस्या) से बचाता है। ओमेगा-3 से भरपूर जिमीकंद रक्तसंचार सुधारने के साथ धमनियों में ब्लॉकेज को दूर करता है।
  • ये ध्यान रखें : आयुर्वेद के मुताबिक किसी भी प्रकार के चर्म या कुष्ठ रोगों में इससे परहेज करें।

विनम्र अपील : प्रिय दोस्तों यदि आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो या आप हिंदी भाषा को इन्टरनेट पर पोपुलर बनाना चाहते हो तो इसे नीचे दिए बटनों द्वारा Like और Share जरुर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस पोस्ट को पढ़ सकें हो सकता आपके किसी मित्र या किसी रिश्तेदार को इसकी जरुरत हो और यदि किसी को इस उपचार से मदद मिलती है तो आप को धन्यवाद जरुर देगा।

Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!