fbpx

करेला दुश्मन है इस बीमारी का, जान लें वरना जिंदगीभर पछताते रह जाओगे

  • करेला भले ही स्वाद में उतना बेहतर न हो परन्तु ये आपकी सेहत के लिए फायदों से भरपूर है। इसी वजह से इसके चाहने वाले इसका सेवन करना पसंद करते हैं पर क्या आपको पता है की करेले का सेवन आपकी कई बीमारियों को जड़ से खत्म कर देता है और कई बीमारियों को होने से पहले ही खत्म कर देता है।
  • करेला खाने में भले ही कड़वा होता है लेकिन इसके फायदे आपको हैरान कर देंगे। करेला कई रोगों को दूर करने में सहायक होता है। आज की पोस्ट में हम आपको करेले से होने वाले ऐसे ही फायदों के बारे में बताएँगे।

करेले के 14 अद्भुत फायदे :

  1. पिम्पल्स को जड़ से खत्म : करेले में खून साफ़ करने के गन पाए जाते हैं। इसके जूस एक सेवन आपके पिम्पल्स को जड़ से खत्म कर देता है।
  2. कफ से मुक्ति : जिन लोगो को गले में खराश रहती है उन लोगो को करेले का सेवन जरूर करना चाहिए। इससे आपके गले को कफ से मुक्ति मिल जायेगी।
  3. पेट में गैस और कब्ज : करेले का सेवन उन लोगो के लिए किसी वरदान से कम नहीं है जिन लोगो को पेट में गैस और कब्ज की शिकायत रहती है। इसके जूस एक सेवन आपके पेट को अच्छी तरह साफ़ कर देता है।
  4. डाइबिटीज : करेले के फायदों के लिए कभी करेले की सब्जी न बनाये। करेले की सब्जी बनाने में भारी मात्रा में तेल का इस्तेमाल होता है और उच्च तापमान पर पकाने से करेले के कई गुण नष्ट हो जाते हैं इसलिए हमेशा करेले का जूस ही पीएं।  करेले के जूस का सेवन आपको डाइबिटीज की समस्या से निजात दिला देता है।
  5. लकवा या पैरालिसिस : लकवा या पैरालिसिस में भी करेला बहुत कारगर उपाय है। इसमें कच्चा करेला खाना रोगी के लिए लाभदायक होता है। करेले की पत्त‍ियों या फल को पानी में उबालकर इसका सेवन करने से, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, और किसी भी प्रकार का संक्रमण हो, ठीक हो जाता है।
  6. किडनी : किडनी की समस्याओं में करेले का उबला पानी व करेले का रस दोनों ही बेहद लाभकारी होते हैं। यह किडनी को सक्रिय कर, हानिकारक तत्वों को शरीर से बाहर करने में मदद करता है। कैंसर से लड़ने के लिए करेले के रस का सेवन बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है। 
  7. गठिया : जोड़ों के दर्द या गठिया जैसी समस्या में करेला बेहद लाभदायक है। प्रतिदिन करेले का जूस या इसकी सब्जी खाने से जोड़ों में दर्द या जोड़ों की अन्य समस्याएं नहीं होती। जोड़ों में करेले के पत्तों का रस लगाने से भी आराम मिलता है।
  8. लिवर औए पीलिया : इसमें फास्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, इसलिए कब्जियत, पाचन संबंधी समस्याएं और लिवर संबंधी समस्याओं में करेला काफी प्रभावी है। यह लिवर से अवांछित तत्वों की सफाई करता है और पीलिया में भी लाभ देता है।
  9. रक्तशोधक : यह एक बेहतरीन रक्तशोधक के साथ ही हृदय संबंधी समस्याओं के भी फायदेमंद है। यह हानिकारक वसा को हृदय की धमनियों में जमने नहीं देता जिससे रक्तसंचार व्यवस्थित बना रहता है, और हार्ट अटैक की संभावना नहीं होती।
  10. सिरदर्द दूर करता है : करेले की ताजी पत्तियों को पीस कर माथे पर लगाने से सिरदर्द से आराम मिलता है।
  11. घाव ठीक करता है : घाव पर करेले के जड़ को पीस कर लगाने से घाव पक जाता है और मवाद भी निकल जाता है. इससे घाव जल्दी ठीक हो जाता है. अगर आपके पास करेले का जड़ नहीं है तो इसकी पत्तियों को पीस कर गर्म करके पट्टी बांध लें. इससे फोड़ा पक जाएगा और पस भी निकल जाएगी।
  12. घुटने के दर्द में फायदेमंद : कच्चे करेले को आग में भूनकर, फिर मसल कर रुई में लपेट कर घुटने में बांधने से घुटने के दर्द में आराम मिलता है।
  13. पथरी में भी लाभदायक : करेले के रस को पीने से पथरी में आराम मिलता है।
  14. मुंह के छालों से निजात दिलाता है : करेला मुंह के छालों के लिए अचूक दवा है। करेले की पत्तियों का रस निकालकर उसमें थोड़ मुलतानी मिट्टी मिलाकर पेस्ट बना लें और मुंह के छालों पर लगाएं. मुलतानी मिट्टी ना मिले तो करेले के रस में रूई को डुबोकर छाले वाली जगह पर लगाएं और लाह को बाहर आने दें. इससे मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे।
Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!