fbpx

हर्ट अटैक आने पर इन टिप्स के ज़रिए अब आप भी बचा सकते हैं किसी की जान, जाने क्या करें और क्या ना करें

  • इस व्यस्त जीवन में आज कहा कोई अपना ख्याल रख पाता है, शरीर में होती छोटी- छोटी परेशानियों को तो हम यूं ही नज़रअंदाज कर देते हैं। लेकिन यहीं छोटी- छोटी समस्याएं बाद में जाकर एक गंभीर और घातक बीमारी का रुप ले लेती है। तो क्या आए दिन नज़र आती इन परेशानियों से यूं मुंह मोड़ना हमारी सेहत के लिए ठीक होगा? नहीं न, लेकिन फिर भी आज हर इंसान कुछ ऐसा ही कर रहा है जिसके कारण जन्म ले रही हैं जानलेवा बीमारियां। जिनमें आज सबसे आम है हृदय से जुड़ी बीमारियां।
  • इस तनाव भरे जीवन में पूरी दुनिया शायद ही कोई भी ऐसा व्यक्ति होगा जो खुद को तनावमुक्त व खुशहाल बताएगा। ऐसे में बढ़ता तनाव कई बार हर्ट अटैक बनकर लोगों की जान तक ले लेता हैं। इस में सबसे ज़रुरी बात ये कि है उस वक्त वहां मौजूद लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं होती कि ऐसे समय में उन्हे करना क्या चाहिए। अगर आप भी इस बात से अंजान है तो आइए हमारे साथ, आज हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे टिप्स जिन्हे अपनाने से आप किसी भी इंसान की या फिर खुद ही जान बचा सकते हैं।

तो आइए जानते हैं कि हर्ट अटैक आने पर वो कौन से काम है जो आपको तुरंत करने चाहिए जिससे की पीड़ित व्यक्ति की जान बच सके –

  1. ज़मीन पर सीधे लेट जाएं, ज़्यादा हिलने की कोशिश ना करें।
  2. कोशिश करें की आपके पैर किसी कुर्सी या सोफे पर यानी की कहीं भी उचाई पर रहें, जिससे की आपका रक्त प्रवाह आपके हृदय तक हो सके। ऐसा करने से आपका रक्त चाप सामान्य हो सकता है।
  3.  ज़मीन पर आराम से लेट कर धीरे- धीरे लम्बी सांस लें। ऐसा करने से आपके शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन मिलता रहेगा और हृदय पर दबाव कम होता जाएगा।
  4. अगर आपने टाइट कपड़े पर जूते- मोजे पहन रखे हैं तो तुरंत उसे ढिंला कर लें, जूतों और मोजो को उतार दें। इससे आपकी बेचैनी कही हद तक कम हो जाएगी।
  5. अगर आपके पास सोरबिट्रेट की टैबलेट है तो उसे तुरंत अपने जीभ के नीचे रख लें।
  6.  यदि, आपके पास सोरबिट्रेट की गोली नहीं है तो आप उसकी बजाए डिस्प्रिन भी ले सकते हैं।
  7. अगर आपके पास इन दोनों में से कुछ नहीं है तो इनके अलावा और कुछ लेना आपके लिए घातक हो सकता हैं।
  8. यदि आपको उल्टी आ रही है तो उठकर बैठने की कोशिश ना करें, एक तरफ मुड़कर उल्टी कर लें ताकी वह आपके फेंफड़ो में ना जा पाए।
  9. ध्यान रहे की ऐसी स्थिती में भूल कर भी पानी या कुछ और पीने की भूल ना करें, इससे परेशानियां और भी बढ़ सकती है।
  10.  अगर आप थोड़ा सामान्य की स्थिती में आ गए हैं तो कोशिश करें की अपने डॉक्टर व किसी भी परिचित से संपर्क हो सके ताकी आपको जितना जल्दी हो सके मदद मिल जाए।

loading...
Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!