fbpx

सुबह खाली पेट इस पानी को भीगे हुए बीजों के साथ सेवन करने से गठिया और जोड़ो का दर्द ख़त्म हो जाता है, बुढ़ापे में ही घुटने चिकने रहेंगे

जैसे-जैसे उम्र बढ़ने के साथ अक्सर लोगो को घुटनों और जोड़ों का दर्द होने लगता है जो गठिया का लक्षण (Arthritis symptoms) भी हो सकता है।

गठिया की वजह यूरिक एसिड को माना जाता है, शरीर में uric acid की मात्रा बढ़ जाने पर इसके कण घुटनों और अन्य जोड़ों में जमा होने लगते है जिस वजह से जोड़ो में दर्द होने लगता है। कई बार ये दर्द इतना असहनीय होता है की व्यक्ति का बुरा हाल हो जाता है।

गठिया की बीमारी हो तो रात के समय जोड़ो का दर्द बढ़ जाता है और सुबह अकड़न होती है। अगर आपके घुटनो में दर्द रहता है तो सही समय पर इसकी जाँच करवाना जरुरी है, अगर ये गठिया का रोग है तो तुरंत इसका इलाज करना चाहिए नही तो इससे जोड़ो को नुकसान भी हो सकता है।इस लेख में All Ayurvedic के माध्यम से हम जोडों और घुटने के दर्द से राहत पाने के घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार के आसान तरीके बता रहे है। इन देसी उपायों के प्रयोग से आप गठिया जैसी बीमारी से भी छुटकारा पा सकते है।

गठिया का घेरलू और रामबाण इलाज :

  1. चुना : गेहूँ के दाने के बराबर मात्रा में चुना हर रोज सुबह खाली पेट 1 कप दही में या पानी मे मिला कर 3 महीने तक लगातार खाने से कैसा भी गठिया हो ठीक हो जाता है। जिन लोगों को पथरी की समस्या हो वो चुने का सेवन ना करे।
  2. दालचीनी और शहद : एक चम्मच दालचीनी पाउडर और दो चम्मच शहद दिन में 2 बार 1 गिलास गुनगुने पानी के साथ पिए। जिन लोगों को गठिया के कारण चलने फिरने में मुश्किल होती है उन्हें 30 दिनों के प्रयोग में ही काफी pain relief मिलने लगेगा।
  3. तिल : 1/4 कप पानी में तिल को रातभर भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इस पानी को भीगे हुए बीजों के साथ ही पी लें। यह उपचार जोड़ों के दर्द में अत्यंत लाभकारी होता है।
  4. केला : केला विटामिन B का मुख्य स्रोत है और विटामिन B गठिया के उपचार में असरदार माना जा चुका है। गठिया के रोगी को उपचार के लिए 3-4 दिन तक रोजाना सिर्फ केला खिलाया जाता है। इसमें एक दिन में रोगी 7-8 केले रोजाना खाता है।
  5. आलू : कच्चे आलू का जूस गठिया के उपचार में सबसे कारगर है। यह सदियों से किया जाने वाला देसी उपचार है। आलू के जूस को निकालने के लिए उसे बिना छीले ही पतले-पतले टुकड़ों में काट लें। इसके बाद इन टुकड़ों को पानी से भरे एक बड़े ग्लास में रात भर के लिए ढककर रख दें। सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करें। निश्चित लाभ मिलेगा।
  6. मूंग की दाल : मूंग की दाल का सूप जोड़ों के दर्द में सीधा फायदा पहुंचाता है। इसे तैयार करने के लिए एक चम्मच मूंग की दाल को लहसुन की दो कलियों और एक कप पानी में मिलाया जाता है। इसे दिन में दो बार लेने से जल्द राहत मिलेगी।
  7. करेला, सहजन और नीम : करेला, सहजन की फलियां और नीम के फूल गठिया के इलाज में काफी कारगर होते हैं। इनकी सब्जी बनाकर खाएं। कोशिश करें कि इसे बहुत भुनें नहीं और अगर अधकची सब्जी हो, तो ज्यादा असरदार होगी।

किन बातों का रखे ख्याल :

  • दिन की शुरुआत हलके फुल्के योगा से करे। सुबह के समय सूर्य नमस्कार और प्राणायाम करने से जोड़ों और घुटने के दर्द से छुटकारा मिलता है। गठिया का उपचार करने के लिए बाबा रामदेव के बताये योगा आसन भी कर सकते है।

Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!