fbpx

शक्ति और जोश बढ़ाने का पुराना कारगर उपाय, कमजोर पुरुष जरूर पढ़ें

आधुनिक जीवन शैली में पुरुष शक्ति और जोश की कमी से जूझ रहे हैं, जिसकी वजह से वो अपने दांपत्‍य जीवन में खुश नहीं हैं। जाने इससे बचने के उपाय, आयुर्वेद में कुछ ऐसे रहस्‍य छिपे हैं जिनको जान लिया जाए और बताई हुई मात्रा में इस्‍तेमाल किया जाए तो पुराने से पुराना रोग भी गायब हो जाता है । जी हां, प्रकृति के खजाने में कई ऐसी चीजें हैं जिनका उपयोग शारीरिक शक्ति को बढ़ाया और सेहतमंद रखा जा सकता है । जानिए कुछ ऐसी जड़ीबूटियों के बारे में जो आपको आसानी से उपलब्‍ध हो सकती है और इनका इस्‍तेमाल करने से आप भी कमजोरी से मुक्ति पाकर शक्ति और जोश से भर जाएंगे।

शक्तिशाली 4 महत्त्वपूर्ण औषधीयाँ :

  1. सफेद मूसली : प्राचीन काल से ही इसका इस्‍तेमाल शक्ति और जोश बढ़ाने में किया जाता है । इसके गुणों को लेकर कोई साइंटिफिक प्रूफ नहीं है लेकिन ये खोई शक्ति लौटा सकती है, मर्दाना ताकत दिला सकती है इसके दावे जरूर किए जाते हैं। सफेद मूसली का पाउडर एक चम्‍मच, एक गिलास दूध के साथ रोज लेने से इमयूनिटी, शारीरिक कमज़ोरी आदि दूर होते हैं।
  2. अश्‍वगंधा : सफेद मूसली और अश्‍वगंधा का मेल पुरुषों में नई उत्‍तेजना का संचार करता है । शक्ति और जोश में कमी, थकान, कमजोरी और इम्‍यूनिटी बढ़ाने के लिए इसका इस्‍तेमाल सदियों से होता आ रहा है । इसे सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ एक चम्‍मच लेने की सलाह दी जाती है ।
  3. शतावर : एसपैरेगस नाम की सब्‍जी के बारे में आप इन दिनों काफी सुन रहे होंगे, ये आयुर्वेद में सदियों से इसतेमाल की जा रही है । थकान, यूरिन प्रॉब्‍लम, शारीरिक कमज़ोरी में इसका इस्‍तेमाल करने की सलाह दी जाती है । मर्दाना ताकत को चमत्‍कारी रूप से बढ़ाने की क्षमता रखती है ये औषधी ।
  4. शिलाजीत : शिलाजीत हिमालय में मिलने वाली एक ऐसी औषधि है जो बेहद दुर्लभ है । शिलाजीत हिमालय, गिलगिट और तिब्बत क्षेत्र की कुछ विशेष चट्टानों में ही मिलती है । आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत में 85 अलग – अलग मिनरल्‍स पाए जाते हैं । इसी वजह से कमजोर पुरुषों में शक्ति और जोश वर्धन में ये सहायक है । बाजार में यह चार प्रकार में उपलब्‍ध है, दुर्लभ होने के कारण इसकी कीमत काफी ज्‍यादा होती है । यौन ताकत में कमजोरी, लो एनर्जी, बुढ़ापा और इम्‍यूनिटी बिल्‍डअप करने के लिए इसका सेवन किया जाता था ।
loading...
Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!