fbpx

रात को सोते वक्त भुनी हुई 2 लौंग खाने से जो होगा, आपने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा

वर्तमान समय में प्रदूषण के कारण सांस लेना मुश्किल हो गया है। हम प्रत्येक सांस के साथ अपने शरीर के अंदर कई प्रकार के कीटाणुओं का सेवन करते हैं व अधिक भागदौड़ के कारण हम अपने शरीर पर वैसे भी कम ही ध्यान दे पाते हैं, जिससे हमारा स्वास्थ्य काफी कमजोर रहता है या हमें कई प्रकार की बीमारियां होती रहती हैं, जिसके लिए हम कई प्रकार की दवाओं का सेवन भी करते हैं, जिससे हमें आर्थिक नुकसान काफी होता है। लौंग तो आप सभी ने देखी होगी वह आप इसका सेवन भी करते होंगे। ज्यादातर इसका सेवन आप सब्जी का स्वाद बढ़ाने के लिए करते हैं या फिर छोटी-मोटी बीमारियों में भी इसका सेवन होता है। दोस्तों आज जो हम आपको उपाय बताने जा रहे हैं और अगर आप वह उपाय करते हैं, तो आपको काफी समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा। अगर आप रात को सोते वक्त दो या तीन लौंग अंगारों पर सेक कर अर्थात भून कर खाए, तो इससे आपको काफी फायदा होगा, ध्यान रहे ज्यादा देर अंगारे पर रखने से यह जल जाएगी व इसके औषधीय गुण खत्म हो जाएंगे।

असली लौंग की पहचान : 
दुकानदार बेचने वाले लौंग में तेल निकला हुआ लौंग मिला देते है। अगर लौंग में झुर्रिया पड़ी हो तो समझे कि यह तेल निकाली हुई लौंग है। उसे ना खरीदे। लौंग से बहुत सी प्राकृतिक औषधीयाँ बनती है। आज हम आपको बताएँगे की 1 लौंग कितना कमाल का होता है, आइये जाने लौंग के फायदों के बारे में।

रात को लौंग से होने वाले 7 फ़ायदे :

  1. श्वसन संक्रमण से छुटकारा : लौंग एक प्राकृतिक दर्द निवारक हैं और साथ ही यह रोगाणु से भी बचाता हैं। भुना हुआ लौंग गले की खराश से छुटकारा पाने में मदद करता है।
  2. दांत दर्द से आराम : आप कपास के एक टुकड़े की सहायता से थोड़ा-सा लौंग का तेल याा भुना हुआ लौंग का चूर्ण पीड़ादायक दाँत या अपने मसूड़ों पर लगाकर दर्द को कम कर सकते हैं। इसके अलावा यह संक्रमण को भी कम करेगा।
  3. सूजन कम करें : पीड़ादायक मांसपेशियों की मालिश के लिए लौंग तेल का उपयोग करें, इससे आपको जल्द ही आराम हो जाएगा।
  4. घावों का इलाज : लौंग बहुत तीव्र होता हैं, घाव के इलाज के लिए जैतून के तेल में थोड़ा-सा लौंग का तेल मिलाकर घाव पर लगाएं, यह घाव को ठीक करने में मदद करेगा।
  5. पाचन में सुधार : भुना हुआ लौंग उल्टी, दस्त, आंत्र गैस और पेट के दर्द को कम करने में सहायता करता हैं। बस थोड़ा सावधान रहें क्योंकि लौंग बहुत तीव्र होता है, इसका ज्यादा सेवन आपको परेशान कर सकता है।
  6. खांसी, जुकाम : अगर आप इस प्रकार इसका सेवन करते हैं, तो आपको कभी भी खांसी, जुकाम जैसी तकलीफ नहीं होगी साथ ही अगर आपको सर्दी जुखाम है, तो भी आप इसका सेवन कर सकते हैं, क्योंकि इसके अंदर इजेनाल नामक पदार्थ पाया जाता है, जो हमारे शरीर को गर्म करता है, जिससे हमारी सर्दी जुखाम ठीक हो जाती है।
  7. एसिडिटी या कोई पेट संबंधी बीमारी : अगर आपको एसिडिटी या कोई पेट संबंधी बीमारी है, तो इस प्रकार लौंग का सेवन करने से यह पूर्णतया ठीक हो जाएगी।
  8. पेट में दर्द : अगर आपके पेट में दर्द रहता है या फिर पेट में कीड़ों की शिकायत है, तो भी आप इसका सेवन कर सकते हैं।
  9. मसूड़ों के अंदर दर्द : अगर किसी व्यक्ति को मसूड़ों के अंदर दर्द रहता है, तो प्रतिदिन सुबह उठने के पश्चात दो या तीन लौंग का सेवन काफी लाभदायक होता है।
  10. रक्त साफ : प्रतिदिन दो लौंग भून कर खाने से आपके शरीर में बह रहा रक्त साफ होता है, जिससे आपके शरीर की सारी गंदगी खत्म हो जाती है।

लौंग के अन्य 12 बेहतरीन फ़ायदे :

  1. पाचन क्रिया का खराब होना : लौंग 10 ग्राम, सौंठ 10 ग्राम, कालीमिर्च 10 ग्राम, पीपल 10 ग्राम, अजवायन 10 ग्राम को मिलाकर अच्छी तरह पीसकर इसमें एक ग्राम सेंधानमक मिलाकर रख लें। इस मिश्रण को एक स्टील के बर्तन में रखकर ऊपर से नींबू का रस डाल दें। जब यह सख्त हो तब इसे छाया में सुखाकर 5-5 ग्राम की मात्रा में भोजन के बाद सुबह और शाम पानी के साथ लें।
  2. गठिया रोग : लौंग, भुना सुहागा, एलुवा एवं कालीमिर्च 5-5 ग्राम को कूट-पीस लें और घीग्वार के रस में मिलाकर चने के आकार के बराबर की गोलियां बनाकर छाया में सुखा लें। उसके बाद एक-एक गोली सुबह-शाम लेने से गठिया का रोग नष्ट हो जाता है।
  3. चक्कर आना : सबसे पहले दो लौंग लें और इन लौंगों को दो कप पानी में डालकर उबालें फिर इस पानी को ठंडा करके चक्कर आने वाले रोगी को पिलाने से चक्कर आना बंद हो जाता है।
  4. साइटिका : लौंग के तेल से पैरों पर मालिश करने से साइटिका का दर्द खत्म हो जाता है।
  5. टांसिल का बढ़ना : एक पान का पत्ता, 2 लौंग, आधा चम्मच मुलेठी, 4 दाने पिपरमेन्ट को एक गिलास पानी में मिलाकर काढ़ा बनाकर पीना चाहिए।
  6. दांतों का दर्द : 5 ग्राम नींबू के रस में 3 लौंग को पीसकर मिला लें। इसे दांतों पर मलें और खोखल में लगायें। इससे दांतों का दर्द नष्ट होता है।
  7. दमा या श्वास रोग : दो लौंग को 150 मिलीलीटर पानी में उबालें और इस पानी को थोड़ी सी मात्रा में पीने से अस्थमा और श्वास का रुकना खत्म हो जाता है।
  8. दांत के कीड़े : कीड़े लगे दांतों के खोखल में लौंग के तेल को रूई में भिगोकर रखें। इससे दांत के कीड़े नष्ट होते हैं और दर्द कम होता है।
  9. कब्ज : लौंग 10 ग्राम, कालीमिर्च 10 ग्राम, अजवायन 10 ग्राम, लाहौरी नमक 50 ग्राम और मिश्री 50 ग्राम को पीसकर छानकर नींबू के रस में डाल दें। सूखने पर 5-5 ग्राम गर्म पानी से खाना खाने के बाद खुराक के रूप में लाभ होता है।
  10. कमरदर्द : लौंग के तेल की मालिश करने से कमर दर्द के अलावा अन्य अंगों का दर्द भी मिट जाता है। इसके तेल की मालिश नहाने से पहले करनी चाहिए।

loading...
Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!