fbpx

सिर्फ 5 मिनट में नींद आयेगी वो भी बिना दवाँ के, बस अपनी कलाई के इस बिंदु को दबाएँ और फिर देखे कमाल, जरूर पढ़े और शेयर करे

अनिद्रा या नींद न आना :

रात में नींद न आना अथवा रात को देर तक जगे रहने को अनिद्रा कहते हैं। अनिद्रा रोग का खास कारण चिंता को माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति अति उत्तेजित है,अवसाद जैसी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है, कैफीन जैसे उत्तेजक पदार्थ लेता है, गंदे वातावतण में रहता है, ज्यादा मेहनत करता है, बासी और गरिष्ठ भोजन का सेवन करता है, धूम्रपान करता है, नींद की गोलियां लेता है, नशा ज्यादा करता है, तो उसे अनिद्रा का रोग हो सकता है। अनिद्रा रोग का एक कारण स्नायु-संस्थान की गड़बड़ी होना भी हो सकता है।

आज की रोजमर्रा की जिंदगी इतनी व्यस्त हो गई है कि लोगों के पास खुद के लिए वक्त नही निकल पाता है। काम का इतना प्रेशर की व्यक्ति यह भी भूल जाता है कि सही रहने के लिए सोना भी जरूरी होता है। अगर आपको रात में ठीक से नींद न आने की समस्या है तो फिर कुछ उपाय कर सकती हैं। लेकिन गोलियों का सेवन ना करे क्योंकि यह स्लो पोइज़न आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

नींद ना आने के कई कारण हो सकते है जेसे की चिंता, तनाव और या किसी बिमारी का होना जेसे ब्लड प्रेशर या फिर दर्द, लेकिन आज हम आप को स्थाई और सौ प्रतिशत प्रभावी बिना किसी नुकसान का हल बताएँगे। इससे आपको ऐसी नींद आएगी की जिस करवट सोयेंगे उसी करवट सवेरा हो जायेगा अर्थात रात कब ख़त्म हुई और कब सवेरा हुआ आपको पता भी नही लगेगा क्योंकि इस प्रयोग से ऐसी आराम दायक नींद आएगी जो आपको कभी ना आई हो। आइये जानते है इस प्राकृतिक प्रयोग के बारे में।

लक्षण

आंखों का लाल होना, आंखों में नींद भरी होना, किसी भी काम में मन न लगना आदि अनिद्रा रोग के लक्षण होते हैं।

उपचार

अनिद्रा रोग को दूर करने के लिए सबसे पहले रोगी को अपनी नींद को पूरा करना चाहिए। रोगी को रात को जल्दी एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के लिए हाथ की कलाई के पास तथा कंधे से छाती के पास के प्रतिबिम्ब बिन्दुओं पर प्रेशर देसो जाना चाहिए, सुबह जल्दी उठकर व्यायाम करना चाहिए, हरी घास पर नंगे पांव चलना चाहिए, हल्के गुनगुने पानी से नहाना चाहिए, मन-मस्तिष्क को शांत रखना चाहिए। रोगी के स्नायु-संस्थान और पाचनतंत्र से सम्बन्धित केन्द्र बिन्दुओं पर प्रेशर देना चाहिए। अगर अनिद्रा रोग का कारण मनोवैज्ञानिक हो तो किसी अच्छे मनोचिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए।

एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के लिए हाथ की कलाई के पास तथा कंधे से छाती के पास के प्रतिबिम्ब बिन्दुओं पर प्रेशर देने से तथा पैरों पर टखने से ऊपर और टखने के पास के प्रतिबिम्ब बिन्दुओं पर प्रेशर देने से रोगी का अनिद्रा रोग धीरे-धीरे कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है। प्रेशर रोगी की सहनशक्ति के अनुसार प्रतिदिन कुछ सेकेण्ड के लिए देना चाहिए।

Acupressure dwara anidra rog ka upchar karane ke liye in binduon par dabav den

(प्रतिबिम्ब बिन्दु पर दबाव डालकर एक्यूप्रेशर चिकित्सा द्वारा इलाज करने का चित्र)

अधिक जानकारी के लिए यह 👇👇वीडियो देखें

और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे।

रोगी की दोनों भौंहों के बीच के प्रतिबिम्ब बिन्दु तथा रोगी के हाथ की कलाई के पास और अंगूठे से नीचे की ओर के प्रतिबिम्ब बिन्दु पर 2-3 मिनट के लिए प्रतिदिन प्रेशर देने से रोगी का अनिद्रा रोग कुछ ही दिनो में ठीक हो जाता है।

अनिद्रा रोग का खास कारण चिंता को माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति अति उत्तेजित है, अवसाद जैसी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है, अनिद्रा रोग को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर चिकित्सा के द्वारा मस्तिष्क, पाचनतंत्र तथा स्नायुसंस्थान से सम्बन्धित प्रतिबिम्ब बिन्दुओं पर कुछ दिनों तक प्रतिदिन कुछ मिनट के लिए 3 बार प्रेशर देने से अनिद्रा रोग ठीक हो जाता है। इसके अलावा चित्र में दिए गए प्रतिबिम्ब बिन्दुओं (जो कि पीठ की रीढ़ के हड्डी के दोनों तरफ हैं), पर  नियमित रूप से रोजाना प्रेशर देने पर कुछ ही दिनों में अनिद्रा रोग ठीक हो जाता है। इस प्रकार प्रेशर देने से स्नायु-संस्थान के कार्य में सुधार हो जाता है जिसके फलस्वरूप अनिद्रा रोग दूर हो जाता है।

अनिद्रा रोग का खास कारण चिंता को माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति अति उत्तेजित है, अवसाद जैसी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है, रात को सोने से पहले हाथ-पैरों के अंगूठे तथा अंगुलियों पर प्रेशर देने से नींद अच्छी आती है। इसके अलावा दाएं हाथ की अंगुलियों और बाएं हाथ की अंगुलियों को आपस में जोड़कर (जैसा कि चित्र में दिया गया है ठीक उसी प्रकार करके) प्रेशर देने से अनिद्रा रोग दूर हो जाता है। इस प्रकार चिकित्सा करने से तनाव दूर होता है जिसके फलस्वरूप नींद अच्छी आती है।

दोनों हाथों की कलाई के पास अनिद्रा को दूर करने के लिए जो प्रतिबिम्ब बिन्दु होता है (जैसा कि चित्र में दे रखा है) उस पर प्रेशर देने से अनिद्रा रोग दूर हो जाता है।

जानकारी

अनिद्रा रोग का खास कारण चिंता को माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति अति उत्तेजित है, अवसाद जैसी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है, अनिद्रा रोग को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के साथ-साथ कोशिश करनी चाहिए कि रात के समय में जल्दी सो जाएं तथा सुबह के समय में जल्दी उठ जाएं। नींद लाने वाली गोली का सेवन न करें क्योंकि यदि नींद की गोली लेने की आदत पड़ गई तो इसका काफी गंभीर नतीजा हो सकता है। भोजन में मिर्च-मसाला कम कर देना चाहिए तथा शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।

नींद लाने 4 सबसे आसान घरेलु उपाय :

  1. खीरे के छिलकों को रात में पैरों के तलवों में रगड़िए।
  2. एक केले की स्लाइस काटिए। इस पर भुना जीरा डालिए और शाम को खाइए।
  3. सोने से पहले एक चम्मच जायफल पाउडर लें। आप चाहें तो इसे गर्म दूध में डालकर भी पी सकती हैं।
  4. शहद भी अच्छी नींद लाता है।

loading...
Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!