fbpx

इस विशेष तेल से करे चिकनगुनिया के बाद जोड़ों में होने वाले दर्द का इलाज, पोस्ट शेयर करना ना भूले

चिकनगुनिया एक भयंकर बुखार है, इस बुखार का सबसे बुरा असर इसके उतर जाने के बाद होता है और वो है जोड़ों में इतना भयंकर दर्द जैसा लगे के जोड़ अभी टूट जायेंगे. ऐसे में आप ये नुस्खा अपनाकर इस दर्द को सही कर सकते हैं. दरअसल ये नुस्खा एक तेल बनाने की विधि है जो हर प्रकार के दर्द को ख़त्म करने की क्षमता रखता है. तो आइये जाने ये तेल बनाने की विधि.

आवश्यक सामग्री :

50 ग्राम सरसों का तेल
50 ग्राम सफेद तिल का तेल
15 लौंग
1 टुकडा दालचीनी
2 टेबल स्पून अजवायन
1 टेबल स्पून मेथी दाना
1 छोटा टुकडा अदरक पिसा हुआ
1 टी स्पून हल्दी
2 बडे पीस कपूर
1 टेबल स्पून एलोवेरा जैल

तेल बनाने की विधि :

  • कढाई मे दोनो तेल डाल कर तेज गैस पर गर्म करो फिर गैस को धीमी करके हल्दी और कपूर को छोड कर सारी चीजो को डाल दो , जब तक सारी चीजे जल न जाए और उन का सत तेल मे ना आ जाऐ , करीब 20-25 मिन्ट लगेंगे इन्हें जलने मे जब ये भून जाएगें तब तेल का रंग गहरा हो जाएगा फिर गैस बंद कर दे और उसमे हल्दी ,कपूर मिला दे जब तक कपूर घुल ना जाए तब तक तेल को ठंडा होने दे फिर तेल को छान कर एक शीशी मे भर कर रखो , कैसा भी बुरा दर्द हो इससे मालिश से गायब हो जाएगा.   www.allayurvedic.org
  • कृप्या जब तक बहुत अधिक ज़रूरत ना हो कोई भी पेन किलर ना खाऐ तबियत खराब हो जाएगी चिकन गुनिया मे ये तेल बहुत असरदार है बनाकर मालिश करके देखे जिन्हे तकलीफ हो.
  • चिकनगुनिया मे पैरो मे और जोइंट पेन ज्यादा होता है यह तेल 100% फायदेमंद है लगाते ही आराम आना शुरू हो जाएगा पहले दिन से . दिन मे 3 बार मालिश करें |
loading...
Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!