fbpx

डायबिटीज का पक्का ईलाज ! ईलाज नंबर 4 और 7 तो सौ फिसदी अचूक उपाय है जो इसको जड़ से उखाड़ फेंकेगा

आजकल शुगर ने महामारी का रूप धारण कर लिया है. जिससे पूरी दुनिया परेशान है पर हम आयुर्वेद में कुछ तरीकों और उपायों द्वारा इसपर काबू पा सकते हैं डायबिटीज खून में शक्कर की मात्रा अधिक होने के कारण होता है.
आइए हम आपको बताते हैं डायबिटीज के ईलाज के बारे में जिससे आप फिर कभी शुगर से परेशान नहीं होंगे.

डायबिटीज के पक्के ईलाज

  1. जीवनशैली में बदलाव, शिक्षा खान—पान की आदतों में सुधार करके शुगर को नियंत्रित किया जा सकता है. इससे मरीज की थकान और सिरदर्द समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाती है।
  2. प्रतिदिन सुबह योगा व व्यायाम करके भी शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है. इससे न केवल आपके चेहरे का नूर दमकेगा, बल्कि आपके स्वास्थ्य में भी सुधार होगा।
  3. अगर शुगर कंट्रोल में नहीं आ रहा है तो केवल गेहूं की रोटी नहीं खानी चाहिए. इसके बजाय तीन किलो जौ, आधा किलो गेहूं और आधा किलो चने को मिला कर आटा पिसवा लेना चाहिए और फिर इसकी रोटी खानी चाहिए।
  4. आक के पेड़ का पता उल्टी तरफ से लेकर पैर पर बांधे रखें. रात को सिर्फ सोते वक़्त इसको हटायें. एक सप्ताह तक यह प्रयोग करें, आपकी शुगर जड़ से खत्म हो जाएगी।
  5. हरी सब्जी, दाल, दही का सेवन अधिक करना चाहिए. करेले की सब्जी या कच्चा करेला और जामुन खाना चाहिए. कई बार तो जामुन के पत्तों का जूस भी शुगर में लाभकारी होता है।
  6. शुगर के मरीज लोगों को एलोवेरा पीना चाहिए. यह एक रामबाण दवा है. एलोवेरा का भी कुछ अमेरिकन ब्रांडो के नतीजे काफी चौकाने वाले आये हैं।
  7. जामुन की गुठली और करेले सुखा कर समान मात्रा में मिलाकर पीस लें. इसको एक चम्मच सुबह-शाम पानी से लेने पर काफी फायदा होता है, यह उपाय मधुमेह का जड़ से सफ़ाया करता है।
  8. शुगर में बार-बार पेशाब आना स्वाभाविक है और अधिक मात्रा में पेशाब आये, प्यास लगे तो आठ ग्राम पिसी हुई हल्दी नित्य दो बार पानी के साथ फांक लें. इससे आपको लाभ होगा।
  9. मीठा खाने की तीव्र इच्छा होने पर शक्कर के स्थान पर अति अल्प मात्रा में शहद लेकर मूत्र में शकर आने, गुर्दे के पुराने रोगों से बच सकते हैं।
Share:

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!